Monday 6 August 2007

डी कंपनी

डी कंपनी – इसका अर्थ है दाऊद की कंपनी – इसे और अधिक खुलासा किया जाय तो इसका तात्पर्य है अंडर वर्ल्ड डॉन दाऊद इब्राहिम के लिये प्रति माह पैसे लेकर काम करने वाले लोग। चर्चा है कि दाऊद का गैंग एक कंपनी की तरह काम करता है. डी कंपनी का चैयरमेन खुद दाऊद इब्राहीम है और सी ई औ उसका भाई अनीस इब्राहिम। छोटा शकिल डी कंपनी का एम डी है. इसी तरह डी कंपनी के अंतर्गत सभी लोंगों को उनके रैंक और काम के अनुसार प्रति माह वेतन दिया जाता है। बताया जाता है कि कंपनी में बोनस की भी व्यवस्था है। दाऊद, अनीस और छोटा शकिल के अलावा डी कंपनी के जो मुख्य लोग हैं उनमें टाइगर मेमन, येदा याकुब, फहीम मचमच, अनवर थेबा, ताहिर टकला, जावेद चिकना और अफताब बाटकी का नाम महत्वपूर्ण बताया जाता है। सबसे पहले यह जानना होगा की डी कंपनी का क्या कारोबार है? इसके चैयरमेन, सी ई ओ और एम डी क्या करते हैं? जानकार बताते हैं कि डी कंपनी का कारोबार शुरुआती दौर में लोगों की हत्या, तस्करी और वसुली था। जैसे जैसे यह कंपनी पैसे कमाने लगी वैसे वैसे करोबार भी फैलता गया। डी कंपनी के पास इतनी ताकत है कि वह कहीं भी बम विस्फोट कर बड़े पैमाने पर तबाही मचा सकता है। मुंबई में 1993 का बम धमाका इसका सबसे बड़ा उदाहरण है। कहा जाता है कि मादक पदार्थों की तस्करी में भी डी कंपनी का कब्जा है। इसके अलावा फिल्म और रियल स्टेट में भी दाऊद के बड़े पैमाने पर पैसे लगे हए हैं। डी कंपनी के और भी कारोबार हैं।
दाऊद का नाम भारतीय उपमहाद्वीप और अरब देशों में पहले से था लेकिन अमेरिका द्वारा दाऊद का नाम ग्लोबल आंतकवादी की सूची में डालते हीं सारी दुनिया दाऊद के नाम से परिचित हो गई। लोग दाऊद के बारे में अधिक से अधिक जानने की कोशिश करने लगे। सूत्रों का कहना है कि दाऊद को इन दिनों पहचानना बेहद मुश्किल है उसके एक नहीं कई नाम और कई पहचान हैं। अलग अलग देशों में अलग अलग नामों से जाना जाता है। कहा जाता है कि आयात और निर्यात के कारोबार के अलावा दुनियां के कई देशों में वहां के नेताओं से संबंध बनाने की जिम्मेदारी खुद दाऊद इब्राहीम के जिम्मे है। कंपनी के फाईनेंस का पूरा कारोबार अनीस इब्राहिम खुद देखता है इसमें कहां से कितना पैसा आना और किसे कितना देना है सब कुछ शामिल है। कंपनी के एम डी (प्रबंध निदेशक) छोटा शकील के पास दूसरे गैंग पर हमला और किसे लुढकाना है, इसकी जिम्मेवारी है। इतना हीं नहीं कंपनी में नये शूटरों की भर्त्ति की जिम्मदारी भी छोटा शकील की है।
बहरहाल डी कंपनी के पास कितना धन है इसका अंदाजा किसी को नहीं है। एक अनुमान के मुताबिक डी कंपनी के पास लगभग 20 हजार करोड़ का धन होगा। कहा जाता है कि सिर्फ भारत में खासकर महाराष्ट्र और गुजरात में डी कंपनी में काम करने वालों की संख्या लगभग 2000 है। देश और विदेश में कितने लोग डी कंपनी में होंगे इसका अंदाजा सहज ही लगाया जा सकता है।

No comments: