Tuesday 7 August 2007

दाऊद और राजन के बीच गैंगवार

अंडर वर्ल्ड के दो डॉन दाऊद इब्राहीम और छोटा राजन के बीच विवाद होते हीं छोटा राजन ने दाऊद से संबंध तोड़ अपना गिरोह बना लिया। शुरुवाती दौर में राजन इतना मजबूत नहीं था कि दाऊद से टकरा सके लेकिन अब छोटा राजन दाऊद को मारने की हर संभव कोशिश कर रहा है। उसने प्रतिज्ञा कर रखी है कि वह दाऊद को मार गिरायेगा। मीडिया में अपने इस वचन को छोटा राजन ने फिर दोहराया।

गैंगवार में दोनो खेमों के कई लोग मारे गये । लेकिन उनकी आपसी लड़ाई इतनी बढ गई कि वे लोग एक दूसरे की हत्या करवाने के लिये हर संभव कोशिश करने लगे । वर्ष 2000 के सितंबर माह में बैंकॉक में डी कंपनी ने छोटा राजन पर जान लेवा हमला किया। इस हमले में राजन का खासमखास सहयोगी रोहित वर्मा और उसकी पत्नी मौके पर ही मारे गये। इस हमले में राजन को भी गोली लगी और उसे अस्पताल में भर्त्ति करा दिया गया। सारी गोलियां निकाल दी गई लेकिन सेहत में थोड़ी सुधार होते हीं राजन सुरक्षा गार्डों को चकमा देकर भाग निकला। कहा जाता है कि इस हमले की पूरी योजना अंडर वर्ल्ड डॉन छोटा शकील ने खुद तैयार की थी। इसमें सबसे अधिक अहम भूमिका निभाई दाऊद इब्राहीम के खासमखास शरद शेट्टी ने। शरद शेट्टी ने मुंबई स्थित होटल के मालिक और अपने दोस्त विनोद शेट्टी के माध्यम से यह पता करवा लिया कि राजन कहां है तब जाकर राजन पर हमला हो सका। इस हमले के लिये छोटा शकील ने काफी तैयारी की थी।

इसके बाद राजन ने दाऊद के निकट के सहयोगियों की हत्या करनी शुरु कर दी। विनोद शेट्टी की हत्या 2001 में कर दी गई। इसके साथ साथ सुनिल नामक व्यक्ति की भी हत्या कर दी गई। कहा जाता है कि इसने भी राजन कहां है पता लगाने में मदद की थी। लेकिन अंडर वर्ल्ड की दुनियां में उस समय तहलका मच गया जब वर्ष 2002 के जनवरी महीने में, दाऊद इब्राहीम के राइट हेंड शरद शेट्टी की दुबई स्थित इंडिया सोशल क्लब में राजन के शूटरों ने हत्या कर दी। राजन यहीं नहीं रुका – उसने दाऊद की हत्या के लिये पाकिस्तान में भी हमला करने की कोशिश की और कराची के एक मार्केट काविश क्राउन प्लाजा में धमाका कराया। कहा जाता है कि उस हॉटल का मालिक दाऊद इब्राहीम हीं है।

बहरहाल मौके की तलाश में दोनो ही खेमा लगा हुआ है। बीच में यह खबर भी उड़ी थी कि दाऊद और राजन में फिर दोस्ती हो गई है। लेकिन सच्चाई यही है कि दूश्मनी बरकरार है।

No comments: